Date: Sun 4 Dec 2022 /

4-Dec-2022 10-Jamadi'al Ula-1444

पैगम्बर मुहम्मद बिल अब पास होगा: मुहम्मद सईद नूरी

Read
Read is available until [expire_date]
  • Version
  • Read 0
  • File Size 4.00 KB
  • File Count 1
  • Create Date Wed 19 Jan 2022
  • Last Updated Wed 19 Jan 2022

पैगम्बर मुहम्मद बिल अब पास होगा: मुहम्मद सईद नूरी

नासिक: 18 जनवरी को उलेमा-ए-अहल-ए-सुन्नत को संबोधित करते हुए हजरत सैयद मोइन मियां ने कहा कि मुसलमानों के ईमान की हरारत जिंदा है।

शहर के दारुल उलूम सादिक-उल-उलूम शाही मस्जिद में “पैगंबर मुहम्मद बिल” पर बोलते हुए उन्होने कहा, यदि यह बिल राज्य में पारित हो जाता है, तो यह मुसलमानों के लिए एक महान उपहार होगा। नगर सेवक गजानंद शेलार (नाना) जी ने जिस तरह से समर्थन का आश्वासन दिया है, उससे अब यकीन हो गया है कि पैगम्बर मुहम्मद बिल के पास हो जाने का मार्ग प्रशस्त हो रहा है। इस दौरान उन्होने नगर सेवक नाना ने निगम की मदद से सम्राट नासिक की दहलीज पर एक शानदार उच्च द्वार का निर्माण कराया। जिसका हजरत सैयद मोइन मियां साहिब द्वारा उद्घाटन किया गया।

मोइन मियां ने नाना के काम की बहुत सराहना की। इस दौरान नाना साहब ने क्कहा कि मैं आज आपके सामने हजरत सैयद मोइन मियां साहिब को विश्वास दिलाता हूं कि नासिक शहर का हर आदमी आपके साथ है। आप जो भी आदेश दें, हम सब तैयार हैं। हम अपने देश में शांति और भाईचारे से रहना चाहते हैं। उसके बाद हजरत मोइन मियां साहिब ने बरगाह नासिक का दौरा किया और नासिक शहर के विकास और महाराष्ट्र की समृद्धि और भारत की शांति के बारे में बात की।

उल्लेखनीय है कि इस समय अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी साहिब और हजरत सैयद मोइन मियां साहिब ने महाराष्ट्र में संगम नायर, सुन्नर और नासिक का दौरा किया है। दोनों ने एक मस्जिद द्वारा संचालित कॉलेज का दौरा किया। जीएम कॉलेज नासिक शहर के लड़के और लड़कियों के लिए सबसे अच्छा महाविद्यालय है जहां से देश भर के मुस्लिम बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। इस मौके पर शाही मस्जिद के खतीब और इमाम हजरत मौलाना शम्स-उद-दीन साहिब और दारुल उलूम के इमाम सादिक-उल-उलूम आदि मौजूद रहे।

2 thoughts on “पैगम्बर मुहम्मद बिल अब पास होगा: मुहम्मद सईद नूरी”

  1. Allah in Azim hastiyon ki saaye ko hamare upar qaayam rakhe.
    Ye hamare salaar o rahbar hain
    In ke ishaare pe hamari jaan o maal qurbaan.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Durood Shareef Count

    Moon Sighting